नेपाल ने इस वसंत में माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने के लिए रिकॉर्ड 466 परमिट जारी किए :-Hindipass

Spread the love


भारत के 40 सहित 466 पर्वतारोहियों की रिकॉर्ड संख्या को नेपाली सरकार ने दुनिया की सबसे ऊंची चोटी 8,848.86 मीटर माउंट एवरेस्ट, इस वसंत में चढ़ाई करने की अनुमति दी है।

पर्यटन मंत्रालय के अनुसार, नेपाल, भारत और चीन सहित 65 विभिन्न देशों के पर्वतारोही इस सीजन में शिखर सम्मेलन करने का लक्ष्य रखते हैं।

43 समूहों के कुल 466 पर्वतारोहियों को स्वीकृति मिली। इनमें 368 पुरुष और 98 महिलाएं हैं।

इसने 2021 में बनाए गए 409 के पिछले रिकॉर्ड को तोड़ दिया।

चीन से सबसे अधिक 96 पर्वतारोहियों को मंजूरी मिली है, इसके बाद अमेरिका से 89 और भारत से 40 पर्वतारोहियों को मंजूरी मिली है।

इसी तरह हंगरी से 33, कनाडा से 21, रूस से 18 और ग्रेट ब्रिटेन से 15 पर्वतारोहियों को मंजूरी मिली है।

नेपाल पर्वतारोहण संघ के पूर्व अध्यक्ष आंग त्शेरिंग शेरपा ने कहा कि इस बार नेपाल से परमिट प्राप्त करने वाले पर्वतारोहियों की संख्या में काफी वृद्धि हो सकती है क्योंकि तिब्बत की ओर से (पूर्वोत्तर रिज मार्ग) चढ़ाई पर COVID-19 महामारी के बाद से प्रतिबंध लगा दिया गया है।

माउंट एवरेस्ट पर इंसान के पहले कदम रखे हुए 70 साल हो गए हैं। तेनजिंग नोर्गे शेरपा और एडमंड हिलेरी ने 29 मई, 1953 को सफलतापूर्वक एवरेस्ट पर चढ़ाई की।

तब से, लगभग 7,000 राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय पर्वतारोही सफलतापूर्वक एवरेस्ट पर चढ़ चुके हैं, और 300 से अधिक आज तक अपनी जान गंवा चुके हैं।

मंत्रालय के अनुसार, 2022 में 44 समूहों के 323 पर्वतारोहियों को एवरेस्ट अभियान के लिए मंजूरी दी गई थी।

2019 में, जब 380 परमिट जारी किए गए थे, तो एवरेस्ट पर भीड़भाड़ हो गई थी, जिससे पर्वतारोहियों को शिखर तक पहुंचने के लिए ठंडे तापमान में घंटों इंतजार करना पड़ा था।

(इस रिपोर्ट का केवल शीर्षक और छवि बिजनेस स्टैंडर्ड के योगदानकर्ताओं द्वारा संपादित किया गया हो सकता है; शेष सामग्री एक सिंडीकेट फ़ीड से स्वत: उत्पन्न होती है।)

#नपल #न #इस #वसत #म #मउट #एवरसट #पर #चढन #क #लए #रकरड #परमट #जर #कए


Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published.